Ka Se Kamaayib song lyrics


Ka Se Kamaayib song lyrics -खेसारी लाल जी का यह गाना उनकी आने वाली फिल्म भाग खेसारी भाग का हैं इस फिल्म में खेसारी जी फरहान अख्तर की फिल्म भाग मिल्खा भाग के तरह ही भागते हुए नज़र आ रहे हैं और कही ने कही ये फिल्म भी उस फिल्म से मिलती जुलती लग रही हैं

क से कमाईब गाने में भी खेसारी ने अपने अभिनय और गायकी से लोगो का दिल जीत लिया हैं इस गाने में जिस तरह एक छोटा सा बच्चा क से ख से उच्चारण करता है उसी तरह से यहाँ भी खेसारी जा क ख पढ़ रहे हैं बस फर्क इतना हैं की वो यहाँ पर अपनी पत्नी के लिए पूरी तरह से समर्पण हैं

Ka Se Kamaayib song lyrics

MovieBhag Khesari Bhag
SingerKhesari Lal Yadav, Priyanka Maurya
SongKa Se Kamaayib ( क से कमाईब )
LyricistPrakash Barood
Music DirectorOm Jha
Star CastKhesari Lal Yadav, Smriti Sinha, Anara Gupta
PresenterJp Star Pictures
Produced ByUma Shankar Prasad

Suna Ae Jaan Hamra Pyar Ke Kakahara, Yehi Me Mehar Ke Sukh Mili Tahra

Ta Sunava

Suna Ae Jaan Hamra Pyar Ke Kakahara, Yehi Me Mehar Ke Sukh Mili Tahra
Ka Se Kamayeb Kha Se Khiyayeb, Ga Se Gorbo Dawaib Ho

Gha Se Gharwe Me Ghusal Rahab, Chhod Ke Na Bahra Jaib Ho
Gha Se Gharwe Me Ghusal Rahab, Chhod Ke Na Bahra Jaib Ho

Cha Se Chaal Hum Bujhatani, Chha Se Chhal Kar Jaiba Ho
Ja Se Jawani Jiyan Tu Karwa, Jha Se Man Jhankaiwa Ho

Ta Se Tamatar Jas Galiya Pa, Tha Se Thod Sataib Ho
Da Se Daar Ke Darad Ae Darling, Dha Se Dhar Ke Bhagaib Ho
Gha Se Gharwe Me Ghusal Rahab, Chhod Ke Na Bahra Jaib Ho

Ta Se Tara Dekhaiwa Tu Din Me, Tha Se Tharthar Kapaiwa Ho
Da Se Duwari Agorle Rahaba, Dha Se Dhadkan Badhaiwa Ho

Pa Se Pyar Se Sejiya Upar, Ph Se Phan Ke Aaib Ho
Ba Se Bahiya Me, Bh Se Bhar Ke Kareja Tohke Sutaib Ho
Gha Se Gharwe Me Ghusal Rahab, Chhod Ke Na Bahra Jaib Ho

Ka Se Kamaayib song hindi Lyrics

सुनऽ ऐ जान हमरा प्यार के ककहरा, येही मे मेहर के सुख मिलि तहरा

त सुनावऽ

सुनऽ ऐ जान हमरा प्यार के ककहरा, येही मे मेहर के सुख मिलि तहरा
क से कमायब ख से खिआयेब, ग से गोरबो दवाइब हो

घ से घरवे में घुसल रहब, छोड़ के न बहरा जाइब हो
घ से घरवे में घुसल रहब, छोड़ के न बहरा जाइब हो

च से चाल हम बुझऽतानी, छ से छल कर जइबऽ हो
ज से जवानी जियान तू करवऽ, झ से मन झनकइवऽ हो

ट से टमाटर जस गलिया प, ठ से ठोड़ सटाइब हो
ड से डार के दरद ऐ डार्लिंग, ढ से ढार के भगाईब हो
घ से घरवे में घुसल रहब, छोड़ के न बहरा जाइब हो

त से तारा देखइवऽ तू दिन में, थ से थरथर कपईवऽ हो
द से दुवारी अगोरले रहवऽ, ध से धड़कन बढ़इवऽ हो

प से प्यार से सेजिया उपर, फ से फान के आइब हो
ब से बहिया में, भ से भर के करेजा तोहके सुताइब हो
घ से घरवे में घुसल रहब, छोड़ के न बहरा जाइब हो

Leave a Comment